30 Oct Happy Diwali Kavita Poems Poetry In Hindi Punjabi Marathi Tamil English

By | October 19, 2016

30 Oct Happy Diwali Kavita Poems Poetry In Hindi Punjabi Marathi Tamil English: In every legend, myth and story of Deepawali falsehoods the essentialness of the triumph of good over fiendishness; and it is with each Deepawali and the lights that enlighten our homes and hearts, that this honest truth finds new reason and trust. Happy Diwali Kavita Poems Poetry In Hindi Punjabi Marathi English. From haziness unto light — the light that enables us to confer ourselves to great deeds, that which conveys us nearer to divine nature. Amid Diwali, lights enlighten each edge of India, and the aroma of incense sticks lingers palpably, blended with the hints of sparklers, happiness, harmony and trust. Diwali Kavita, Diwali Poems, Diwali Poetry, Diwali kavita in hindi, Diwali poems in marathi, Diwali poems in tamil, Diwali poetry in english, Diwali poems 2016. Diwali has praised the world over. Outside India, it is more than a Hindu celebration; it’s a festival of South-Asian characters. If you are far from the sights and hints of Diwali, light a diya, sit discreetly, close your eyes, pull back the faculties, focus on this excellent light and enlighten the spirit. 30 Oct Happy Diwali Kavita Poems Poetry In Hindi Punjabi Marathi Tamil English.

Diwali Kavita, Diwali Poems, Diwali Poetry, Diwali kavita in hindi, Diwali poems in marathi, Diwali poems in tamil, Diwali poetry in english, Diwali poems 2016

Happy Diwali Kavita In Hindi

साथी, घर-घर आज दिवाली!

साथी, घर-घर आज दिवाली!

फैल गयी दीपों की माला
मंदिर-मंदिर में उजियाला,
किंतु हमारे घर का, देखो, दर काला, दीवारें काली!
साथी, घर-घर आज दिवाली!

हास उमंग हृदय में भर-भर
घूम रहा गृह-गृह पथ-पथ पर,
किंतु हमारे घर के अंदर डरा हुआ सूनापन खाली!
साथी, घर-घर आज दिवाली!

आँख हमारी नभ-मंडल पर,
वही हमारा नीलम का घर,
दीप मालिका मना रही है रात हमारी तारोंवाली!
साथी, घर-घर आज दिवाली!

– हरिवंशराय बच्चन


फिर खुशियों के दीप जलाओ

ये प्रकाश का अभिनन्दन है
अंधकार को दूर भगाओ
पहले स्नेह लुटाओ सब पर
फिर खुशियों के दीप जलाओ

शुद्ध करो निज मन मंदिर को
क्रोध-अनल लालच-विष छोडो
परहित पर हो अर्पित जीवन
स्वार्थ मोह बंधन सब तोड़ो
जो आँखों पर पड़ा हुआ है
पहले वो अज्ञान उठाओ
पहले स्नेह लुटाओ सब पर
फिर खुशिओं के दीप जलाओ

जहाँ रौशनी दे न दिखाई
उस पर भी सोचो पल दो पल
वहाँ किसी की आँखों में भी
है आशाओं का शीतल जल
जो जीवन पथ में भटके हैं
उनकी नई राह दिखलाओ
पहले स्नेह लुटाओ सब पर
फिर खुशियों के दीप जलाओ

नवल ज्योति से नव प्रकाश हो
नई सोच हो नई कल्पना
चहुँ दिशी यश, वैभव, सुख बरसे
पूरा हो जाए हर सपना
जिसमे सभी संग दीखते हों
कुछ ऐसे तस्वीर बनाओ
पहले स्नेह लुटाओ सब पर
फिर खुशियों के दीप जलाओ

– अरुण मित्तल ‘अद्भुत’


दीपावली आई

दीपों का त्योहार दीवाली।
खुशियों का त्योहार दीवाली॥

वनवास पूरा कर आये श्रीराम।
अयोध्या के मन भाये श्रीराम।।

घर-घर सजे , सजे हैं आँगन।
जलते पटाखे, फ़ुलझड़ियाँ बम।।

लक्ष्मी गणेश का पूजन करें लोग।
लड्डुओं का लगता है भोग॥

पहनें नये कपड़े, खिलाते है मिठाई ।
देखो देखो दीपावली आई॥

– अज्ञात कवि

Diwali Poems In Punjabi

Happy Diwali Poetry In Marathi

आज सर्व लाइट पुन्हा `महोत्सव आहे;

 

मन आणि हृदय आणि जीवनाचा एक आनंदाचा दिवस;

 

आणि लोक मंदिर ऑफर गर्दी,
प्रार्थना, चांगले भूमिका घेणे निराकरण.
आनंद, उत्तेजक, आनंद मे
या दैवी च्या सण आपण कायमचे
आजूबाजूला?आनंद मे,
या हंगामात आणते की,
आपले जीवन तेजस्वी आणि
वर्ष आपण नशीब आणते अशी आशा
आपल्या सर्व समजत स्वप्ने पूर्ण!
आनंदी दिवाळी
**************
दिपावलीच्या येथे आहे दिपावलीच्या येथे आहे
आवाज महान उत्सव
तेव्हा फटाके आणि हशा विपुल
फटाके आणि sparklers आकाश प्रकाशमय तेव्हा
तेव्हा आनंद मुले आनंदाने उडी.
आनंदी दिवाळी !!!

Diwali Poems In Tamil

இன்று அனைத்து மீது தீபங்களின்: விழா;
இருதயத்தின் மற்றும் ஆன்மா ஒரு சந்தோசமான நாள்;
மற்றும் மக்கள் கோயில்கள் வழங்க கூட்டம்
பிரார்த்தனை, தீர்ப்பது சிறந்த பாத்திரங்களை ஏற்கத்.
ஜாய், சியர், மிர்த் மே
இந்த தெய்வீக களிப்பு
திருவிழா நீங்கள் எப்போதும் சுற்றி?
மகிழ்ச்சி மே,
இந்த பருவத்தில் கொண்டுவரும் என்று,
உங்கள் வாழ்க்கை பிரகாசமாக
ஆண்டு நீங்கள் அதிர்ஷ்டம் கொண்டு நம்புகிறேன்
உங்கள் பாசத்திற்குரிய கனவுகள் நிறைவேற்றுகிறது!
இனிய தீபாவளி வாழ்த்துக்கள்
*************
தீபாவளி தீபாவளி இங்கே உள்ளது, இங்கே உள்ளது
ஒலியின் அந்த பெரிய திருவிழா
போது பட்டாசு மற்றும் சிரிப்பு நிறைந்திருக்கின்றன
பட்டாசு மற்றும் மத்தாப்பு வானத்தில் ஒளிர போது
போது மகிழ்ச்சி குழந்தைகள் மகிழ்ச்சி கொண்டு குதிக்க.
இனிய தீபாவளி வாழ்த்துக்கள் !!!

Happy Diwali Poems Poetry In English

The sweet smell of flowers
The array of colors
Diwali is here
Firecrackers are heard
Candles are lit
Children play
Presents are given
We pray to the gods
Diwali is here.
*************
It’s the season to pay a visit,
To all our friends and relations,
To hand them over sweets and presents,
Diwali is our splendid chance.
Joy, Joy, Joy,
We can play with our cousins
We can eat so many sweets
We can fire crackers
We can worship Goddess Lakshmi because
It is Diwali.Happy Diwali
**************
Paying respects to the gods,
And decorating for them the thali,
This is what the occasion is all about,
This is the spirit of Deepavali.
Many Many Happy Returns Of Diwali
Dunes of vapours from crackers rise,
overwhelm as odorous air resound
Effusing joy to all abound
Pearls of glitter in this autumn nights
beautify our lives else trite.
*************
I Pray to God to give U
Shanti,
Shakti,
Sampati,
Swarup,
Saiyam,
Saadgi,
Safalta,
Samridhi,
Sanskar,
Swaasth,
Sanmaan,
Saraswati,
aur SNEH.
SHUBH DIWALI…

Incoming search terms:

  • diwali poem photo marathi
  • दिवाळी आणि मराठी कविता
  • diwali poem in punjabi
  • Diwali poetry in english image hd
  • dipavali lmage
  • dewali poem photo marati
  • शुभ दीवाली मराठी
  • marathi diwali shubhechha
  • Narakchaturdashi in Marathi msg poem
  • narakchaturdashi marathi kavita

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *